असम NRC की आखिरी लिस्ट : 19 लाख लोग बाहर !!

Assam NRC

Assam NRC

असम में नेशनल रजिस्टर ऑफ़ सिटीजन्स की आखिरी सूची आज जारी कर दी गयी है। इसके मुताबिक असम राज्य के लगभग 3.1 करोड़ लोगों को इस सूची में जगह दी गयी है जबकि तकरीबन 19 लाख लोगों को एनआरसी से बाहर कर दिया गया है। इनमे वो लोग भी शामिल हैं जिन्होंने नेशनल रजिस्टर ऑफ़ सिटीजन्स के लिए आवदेन नहीं किया था।


एनआरसी में संसोधन की प्रकिया सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर वर्ष 2013 में शुरू की गयी थी।
असम में एनआरसी के लिए आवेदन मई 2015 से 31 अगस्त 2015 तक मांगे गए थे। सभी आवेदनों को विभिन्न मानदंडों पर लम्बे समय तक जाँच पड़ताल की गयी। सर्कार के तकरीबन 52000 कर्मचारी इस कार्य में लम्बे समय से जुटे हुए थे।

क्या है NRC ?
राष्ट्रिय नागरिकता रजिस्टर देश में रह रहे नागरिकों का ऐसा रिपोर्ट है जिसके तहत इस रजिस्टर में दर्ज सभी व्यक्तियों को भारत का नागरिक माना जाएगा।


असम में NRC :

असम के लिए नागरिकता क़ानून पूरे देश से थोड़ा अलग है। वह पर 1951 ( जब राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर तैयार हुआ था ) तब से लेकर २४24 मार्च 1971 मध्यरात्रि तक असम राज्य में निवास करने वाले को ही भारतीय नागरिक माना जाएगा।


उनका क्या होगा जिन्हे NRC से निकाल दिया गया है :

जिन लोगों को नेशनल रजिस्टर ऑफ़ सिटीजन्स में जगह नहीं मिली है उनके लिए भी अभी विकल्प खुला है। वो 120 दिन के अंदर विदेशी ट्रिब्यूनल में अपील कर सकते हैं। इसके बाद भी वो उच्च न्यायलय या सर्वोच्च न्यायलय का दरवाजा खटखटा सकते हैं।