फिरोज़ गांधी : ऐसा गाँधी जिसे देश ना तो याद करता है, और ना ही देश की मीडिया या राजनेता उसका चर्चा करना पसंद करते हैं
Politics

फिरोज़ गांधी : ऐसा गाँधी जिसे देश ना तो याद करता है, और ना ही देश की मीडिया या राजनेता उसका चर्चा करना पसंद करते हैं

एक बेजोड़ सांसद , एक स्वतंत्रता सेनानी, लोकतंत्र के हिमायती , प्रेस की स्वतंत्रता के रक्षक , १९५० में अस्थायी सांसद, १९५२ और १९५७ में लोकसभा संसद के तैर पर कई उपलब्धियों के बावजूद देश…