व्यक्ति विशेष / पुण्यतिथि विशेष : महादेवी वर्मा !!

महादेवी वर्मा

महादेवी वर्मा

छायावाद के चार स्तंभों (प्रसाद, निराला, पंत और महादेवी ) में से एक महान कवयित्री , लेखिका महादेवी वर्मा की आज पुण्यतिथि है।


महादेवी वर्मा का जन्म 26 मार्च साल 1907 यूपी के फरुखाबाद में हुआ था।कहा जाता है की १० साल से भी कम उम्र में उन्होंने कविता लिखनी शुरू कर दी थी। बालयकाल से ही साहित्य में रूचि रखने वाली महादेवी वर्मा बाद में इलाहबाद विश्वविद्यालय से संस्कृत में उच्च शिक्षा ग्रहण की बाद में वहीँ इलाहबाद के प्रयाग महिला विद्यापीठ में अध्यापन करने लगीं। वही फिर प्रधानचार्य भी बनीं। महादेवी वर्मा का दांपत्य जीवन सफल नहीं रहा लेकिन उनका साहित्यिक जीवन बेहद सफल रहा। 11 सितंबर 1987 को इलाहाबाद में उनका देहांत हो गया !


उनकी प्रमुख रचनायें हैं :
काव्य : रश्मि, नीरजा, सांध्यगीत, दीपशिखा, अग्निरेखा, प्रथम आयाम, सप्तपर्णा, यामा, आत्मिका, दीपगीत, नीलाम्बरा और सन्धिनी आदि
गद्य : मेरा परिवार, स्मृति की रेखाएं, पथ के साथी, शृंखला की कड़ियां और अतीत के चलचित्र आदि


महादेवी वर्मा को पद्म विभूषण , कृति “यामा” के लिए ज्ञानपीठ पुरस्कार समेत कई पुरस्कार और सम्मान मिले हैं।

आईये नजर डालें उनकी पुण्यतिथि पर उनकी एक रचना उन्ही को समर्पित करते हुए :