दिलिप कुमार नहीं रहे

बॉलीवुड सुपर स्टार ट्रेजडी किंग दिलीप कुमार अब हमारे बीच नहीं रहे। आज सुबह मुंबई के अस्पताल में दिलीप साहब ने आखिरी साँस ली। वे 98 वर्ष के थे।

2 दिन पहले ही उनकी पत्नी सायरा बानो ने बयान में कहा था कि दिलीप साब के स्वास्थ्य में सुधार हो रहा है। वे लंबे अर्से से बीमार चल रहे थे। लेकिन आज उनकी मौत की खबर से देश विदेश और बॉलीवुड में शोक की लहर फैल गई है।

युसुफ खान से दिलीप कुमार और फिर ट्रेजडी किंग तक का सफर :

ब्रिटिश इंडिया के पेशावर (अभी पाकिस्तान में) में जन्में युसुफ खान की दोस्ती बचपन में ही राज कपूर साहब से हो गयी थी। और फिर उन्होंने 22 साल में बॉलीवुड में अपने सफर की शुरूआत फिल्म ” ज्वार भाटा ” से की।

करीब 60 से अधिक फिल्मों में अभिनय :

दिलीप ने अपने दमदार अभिनय से बॉलीवुड में सफलता की नई कहानी लिख दी। मुगले आजम, नदीया के पार, नया दौड़, देवदास, राम और श्याम, करमा आदि फिल्मों ने सफलता के किर्तीमान स्थापित किये।

जनता का प्यार और सम्मान तो उन्हें हमेशा मिला ही साथ ही भारत सरकार ने उन्हें पद्म भूषण और पद्म विभूषण की उपाधि दी तो पाकिस्तान की सरकार ने उन्हें सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार से नवाजा। राज्य सभा के सांसद रह चुके दिलीप साब को दादा साहब फाल्के एवार्ड भी मिल चुका है।

बेजोड़ अभिनेता दिलीप कुमार साहब को बेजोड़ इन्फो टीम की ओर से श्रद्धा सुमन ।।